सोमवार, 27 अक्तूबर 2014

नन्हें चित्रकार

नन्हें बच्चों की अपनी दुनिया होती है।उनकी अपनी कल्पनाएं होती हैं।उनकी अपनी सोच होती है और किसी चीज को देखने परखने का नजरिया भी एकदम अनोखा होता है।जिसकी हम कल्पना भी नहीं कर सकते। आज मैं यहां ऐसे ही कुछ नन्हें मुन्ने चित्रकारों के खुद के बनाए चित्रों को प्रदर्शित कर रहा हूं।जरा आप भी देखिये इन चित्रों में इन बच्चों ने अपनी किन कल्पनाओं को रंगों के माध्यम से साकार किया है।



चित्रकार- 
       
धान्या यादव
कक्षा-नर्सरी
सेण्ट डोमिनिक सेवियो कालेज
लखनऊ


चित्रकार
       
चैतन्य शर्मा।
इनकी उम्र मात्र 6 साल है।राजस्थान में इनका घर है।चित्र बनाना इनका प्रिय शौक है।इनका अपना एक ब्लाग भी हैचैतन्य का कोना।जिसे आप इस लिंक पर देख पढ़ सकते हैं।-- http://chaitanyakakona.blogspot.com



चित्रकार-
       
मौलिक यादव
कक्षा-2 ए
सेण्ट डोमिनिक सेवियो कालेज
लखनऊ













चित्रकार-
       
खुशबू
कक्षा-4
सरोज शिक्षा मान्टेसरी स्कूल
लखनऊ





8 टिप्‍पणियां:

  1. सभी प्यारे बच्चों ने सुन्दर कलाकारी की है । चैतन्य को शामिल करने का आभार

    उत्तर देंहटाएं
  2. सभी प्यारे बच्चों ने सुन्दर-सुंदर कलाकारी की है

    उत्तर देंहटाएं
  3. art and craft must be apart of every child's life. The first girl, dhanya and maulik are too gud in art for their respective ages!

    उत्तर देंहटाएं
  4. सभी बच्चे जितने प्यारे हैं उतनी ही प्यारे उनके बनाये चित्र भी हैं. धान्या की छुकछुक गाड़ी बहुत सुन्दर बनी है ....

    उत्तर देंहटाएं