शुक्रवार, 16 अक्टूबर 2009

दीवाली


दिया रोशनी खील बताशा
फ़सलों से महका परिवेश
नहीं पटाखे आतिशबाजी
दीवाली का यह संदेश।

दीपों के इस नव प्रकाश में
नए विश्व की करो कल्पना
हरी भरी होवे यह धरती
सात रंगों की लगे अल्पना।

नई तरंगें नई उमंगें
नव आशा नूतन संकल्प
खोजेंगे हम नई दिशायें
नये सृजन के नये विकल्प।

शीतल मंद हवायें आकर
धरती को दुलरायेंगी
बोली एक प्रेम की बोलो
सबसे कहकर जायेंगी।
000
कवि: कौशल पाण्डेय
हिन्दी अधिकारी
आकाशवाणी,शिवाजीनगर
पुणे
मोबाइल न0- 09823198116

(श्री कौशल पाण्डेय हिन्दी के प्रतिष्ठित बाल साहित्यकार हैं।बाल नाटकों,कहानियों,गीतों के साथ ही आपकी बड़ों के लिये भी अब तक कई पुस्तकें प्रकाशित हो चुकी हैं। वर्तमान समय में आप आकाशवाणी के पुणे केन्द्र पर हिन्दी अधिकारी के रूप में कार्यरत हैं।)
हेमंत कुमार द्वारा प्रकाशित

4 टिप्‍पणियां:

  1. सुख, समृद्धि और शान्ति का आगमन हो
    जीवन प्रकाश से आलोकित हो !

    ★☆★☆★☆★☆★☆★☆★☆★
    दीपावली की हार्दिक शुभकामनाए
    ★☆★☆★☆★☆★☆★☆★☆★

    ♥ ♥ ♥ ♥ ♥ ♥ ♥ ♥ ♥ ♥ ♥ ♥ ♥ ♥ ♥ ♥ ♥ ♥ ♥ ♥ ♥ ♥ ♥ ♥
    कल सुबह ६ बजे हमारे सहवर्ती हिन्दी ब्लोग
    मुम्बई-टाईगर
    पर दिपावली के शुभ अवसर पर ताऊ से
    सिद्धी बातचीत प्रसारित हो रही है। पढना ना भूले।
    ♥ ♥ ♥ ♥ ♥ ♥ ♥ ♥ ♥ ♥ ♥ ♥ ♥ ♥ ♥ ♥ ♥ ♥ ♥ ♥ ♥ ♥ ♥ ♥


    दीपावली की हार्दिक शुभकामनाए
    हे! प्रभु यह तेरापन्थ
    मुम्बई-टाईगर
    द फोटू गैलेरी
    महाप्रेम
    माई ब्लोग
    SELECTION & COLLECTION

    उत्तर देंहटाएं
  2. सुख औ’ समृद्धि आपके अंगना झिलमिलाएँ,
    दीपक अमन के चारों दिशाओं में जगमगाएँ
    खुशियाँ आपके द्वार पर आकर खुशी मनाएँ..
    दीपावली पर्व की आपको ढेरों मंगलकामनाएँ!

    सादर

    -समीर लाल 'समीर'

    उत्तर देंहटाएं
  3. यह दिया है ज्ञान का, जलता रहेगा।
    युग सदा विज्ञान का, चलता रहेगा।।
    रोशनी से इस धरा को जगमगाएँ!
    दीप-उत्सव पर बहुत शुभ-कामनाएँ!!

    उत्तर देंहटाएं
  4. कौशल पाण्डेय जी ने सभी ब्लॉग पाठकों को उनकी प्रतिक्रियाओं के लिए आभार प्रकट करने के साथ ही दीपावली की हार्दिक मंगलकामनाएं प्रेषित की हैं .
    हेमंत कुमार

    उत्तर देंहटाएं