गुरुवार, 22 अप्रैल 2010

थाने में हंगामा

शेरू कुत्ता ले कर सोटा
सीधे पहुंचा थाने में
पटक के सोटा मेज पे बोला
क्या हंगामा थाने में।

थानेदार उठा बिस्तर से
झट से पहुंचा थाने में
हाथ जोड़ के बोला फ़िर वो
सारी सर, कुछ देर हुई बस आने में।

कुर्सी पर फ़िर चढ़ कर शेरू
लगा भौंकने थाने में
कहां मर गये सभी सिपाही
रपट लिखानी थाने में।

सभी सिपाही फ़ौरन भागे
गिरते पड़ते थाने में
शेरू ने फ़िर क्लास लगाई
सरे आम बस थाने में।

थानेदार से उट्ठक बैठक
हवलदार से झाड़ू पोंछा
मेज पे बैठा मुर्गा तोड़े
अपना शेरू थाने में।

शेरू कुत्ता ले कर सोटा
सीधे पहुंचा थाने में।
000
कवियत्री--नित्या शेफ़ाली



7 टिप्‍पणियां:

  1. बहुत बढ़िया कविता लिखी है नित्या बिटिया ने, शाबाश!!

    उत्तर देंहटाएं
  2. बहुत बढ़िया कविता लिखी है नित्या बिटिया ने, शाबाश!!

    उत्तर देंहटाएं
  3. बहुत ही अच्छा विचार है / अच्छी विवेचना के साथ प्रस्तुती के लिए धन्यवाद / मैं तो कहता हु ब्लॉग सामानांतर मिडिया के रूप में उभर कर इस देश में वैचारिक क्रांति का सबसे बड़ा वाहक बनकर इस देश में बदलाव जरूर लायेगा / बस जरूरत है एकजुट होकर सच्ची इक्षा शक्ति से प्रयास करने की /आपको मैं जनता के प्रश्न काल के लिए संसद में दो महीने आरक्षित होना चाहिए इस विषय पर बहुमूल्य विचार रखने के लिए आमंत्रित करता हूँ /आशा है देश हित के इस विषय पर आप अपना विचार जरूर रखेंगे / अपने विचारों को लिखने के लिए निचे लिखे हमारे लिंक पर जाये /उम्दा विचारों को सम्मानित करने की भी व्यवस्था है /
    http://honestyprojectrealdemocracy.blogspot.com/2010/04/blog-post_16.html

    उत्तर देंहटाएं
  4. बहुत सुन्दर लिखा..बधाई.

    ************
    'पाखी की दुनिया में' पुरानी पुस्तकें रद्दी में नहीं बेचें, उनकी जरुरत है किसी को....

    उत्तर देंहटाएं
  5. चर्चा मंच पर

    झिलमिल करते सजे सितारे!

    शीर्षक के अंतर्गत
    इस पोस्ट की चर्चा की गई है!

    उत्तर देंहटाएं
  6. कवितायें, चित्र. फिर उनका संयोजन...क्या बात है !! बहुत अच्छे !! बहुत बड़े काम का बीड़ा उठाया है भाई हेमंत ने... मेरी शुभकामनाएं.

    उत्तर देंहटाएं
  7. bahut umdha panktiyann :)

    http://liberalflorence.blogspot.com/
    http://sparkledaroma.blogspot.com/

    उत्तर देंहटाएं